प्रणाम मित्रों दशेरा हिंदू धर्म का एक महत्वपूर्ण त्यौहार है इस पर्व का महत्व शासकों तथा पुराणों में उल्लेखनीय है यह तो हम सभी जानते हैं कि यह पर्व असत्य पर सत्य की जीत का प्रतीक है हम आज आपको बताएंगे दशहरे से जुड़ी कुछ बहुत ही रोचक और महत्वपूर्ण बातें 

  दशहरा शब्द की उत्पत्ति संस्कृत शब्द के दशक से हुई है जिसका अर्थ है 10 बुराइयों को हराना जब रावण ने भगवान राम की धर्मपत्नी सीता का हरण किया तो राम जी ने रावण का वध करके अपने सीता को मुक्त कराया इसी उपलक्ष में बुराई पर अच्छाई की विजय के रूप में इस पर्व को मनाया जाता है यह पर्व विजयदशमी के नाम से भी प्रसिद्ध है नवरात्रि के प्रथम दिन से विजयदशमी तक पूरे देश में बहुत धूमधाम रहती है दशहरा के साथ ही नवरात्रि का भी समापन हो जाता है हर शहर हर गली में रामलीला होती है प्रिय नाटक होते हैं झांकियां निकाली जाती है और रावण दहन किया जाता है इस प्रकार दशहरा हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है 

  नई दिल्ली के लाल किला मैदान में लव कुश समिति द्वारा आयोजित रामलीला बहुत प्रसिद्ध है महाकाव्य रामायण पर आधारित इस नाटक को देखने दूर-दूर से लोग आते हैं दशेरा न केवल भारत में बल्कि श्रीलंका नेपाल तथा बांग्लादेश में भी मनाया जाता है

 दशहरे के दिन पूजा विधि के अनुसार इस दिन श्री राम लक्ष्मण भरत शत्रुघ्न का पूजन करना चाहिए दशेरा के दिन घर के आंगन में गोबर के चार गोल बर्तन बनाये इन बर्तनो को भगवान राम और उनके तीन अनुजो की छवि माना जाता है 4 बर्तनो में भीगा हुआ धान तथा चांदी रखकर वस्त्र से ढंक दें फिर पुष्प जल तथा धूप चला कर पूजा करें पूजा के पश्चात ब्राह्मणों को भोजन कराना चाहिए

   दशहरा वर्ष की तीन सबसे शुभ तिथियों में से एक माना जाता है अन्य दो शुभ तिथियां है चैत्र शुभ एवं कार्तिक शुभ की प्रतिपदा इस दिन को नया कार्य आरंभ करने के लिए शुभ माना जाता है दशहरा के दिन लोग शस्त्र पूजा भी करते हैं प्राचीन काल के राजा महाराजा इस दिन विजय के लिए प्रार्थना कर रण के लिए प्रस्थान करते थे कुछ लोग आज भी दशहरा के दिन नए कार्य आरंभ करते हैं ताकि उसका परिणाम शुभ तथा लाभदायक हो और इस प्रकार दशहरा किसी नए कार्य के शुभारंभ की नींव डालने की प्रेरणा देता है यदि आप भी कोई कार्य आरंभ करने जा रहे हैं तो दशहरे जैसे शुभ दिन को चुने 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *