मृत्यु जिसके बारे में हर इंसान को जानने की जिज्ञासा रहती है मृत्यु के बाद आत्मा का सफर पूर्व जन्म और पूर्व जन्म का सत्य इत्यादि प्रश्न प्रमुख हे और यह प्रश्न हर किसी को परेशान करते ही रहते हैं लेकिन हमारे पुराणों में मृत्यु से जुड़ा लगभग हर रहस्य उजागर किया गया है गरुड़ पुराण में जीवन से लेकर मृत्यु और उसके बाद आत्मा के सफर तक के हर एक पड़ाव की स्थिति को बताया गया है वैसे गरुड़ पुराण के अलावा भी कुछ ऐसे ग्रंथ है जिनमें मृत्यु के रहस्यों को उजागर किया गया है 

   हम आपको 10 ऐसे संकेत बताएंगे जिन्हें देखकर आपको पता चल जाएगा अब इस धरती पर का समय समाप्त होने वाला है वैसे दोस्तों इन संकेतों के बारे में जानने से पहले हम आपको यह बताना चाहेंगे कि गुरु पुराण को लेकर बहुत से लोगों के मन में कई प्रकार की भ्रांतियां रहती है जैसे लोगों को लगता है कि यह पुराण लोगों को डराने के लिए लिखा गया है लेकिन हम आपको यह स्पष्ट कर दें इसमें बताई गई बातें आपको अज्ञानता के अंधकार से दूर कर प्रकाश की ओर ले जाने के लिए कही गई है अतः आप लोगों से निवेदन है कि आप इस प्रकार की बातें जो जनहित और मानव कल्याण के लिए कही गई है उन्हें अंधविश्वास जैसे शब्दों से संबोधित ना करें 

   जब किसी प्राणी का समय समाप्त होने वाला होता है तो उसकी परछाई भी उसका साथ छोड़ने लगती है उसकी परछाई तेल अथवा पानी में दिखाई देना बंद हो जाती है 

    यदि कोई व्यक्ति जीते जी अपने किसी पूर्वज से बहुत अधिक निकट रहा हो तो अंत समय में उसे मृत परिजन का अपने आसपास होने का आभास होने लगता है उसे लगता है कि कोई साया अब उसके निकट रहने लगा है अर्थात जब किसी को अपने पूर्वजों की याद आने लगे वह दिखाई देने लगे तो समझ लीजिए कि अब उस प्राणी का अपने पूर्वजों से मिलन होने ही वाला है 

   जब किसी प्राणी की शीघ्र ही मृत्यु होने वाली होती है तो कुछ समय पहले उसके शरीर से अजीब तरह की गंध आने लगती है अब उस को जान लेना चाहिए कि उसकी मृत्यु का समय निकट चुका है और उसे समय रहते अति महत्वपूर्ण कार्य संपन्न कर लेना चाहिए 

   जब आईने में अपने चेहरे की जगह किसी और का चेहरा दिखाई देने लगे स्वयं का चेहरा धुंधला दिखाई देने लगे तो समझ जाना चाहिए मृत्यु का समय नजदीक चुका है अब प्राणी को जीवन को सार्थक करने के लिए कुछ उपाय कर लेना चाहिए 

  जब किसी व्यक्ति को चंद्रमा देखने पर उसमे दरार दिखाई दे तो उसे समझ लेना चाहिए कि यह संकेत इस बात का है उसकी मृत्यु नजदीक है इस समय प्राणी को सभी अपने से किसी भी प्रकार का भेदभाव भूलकर मन के सारे मेल मिटा देना चाहिए 

  जब किसी व्यक्ति के शरीर का रंग हल्का पीला और हल्का लाल दिखाई देने लगे तो समझ लेना चाहिए कि उसकी मृत्यु नजदीक है और उसे अब अपने अगले सफर की ओर अग्रसर होना होगा 

   जब किसी व्यक्ति को चंद्रमा अथवा सूर्य की चमक दिखाई देना बंद हो जाती है तो उसे समझ लेना चाहिए उसका समय निकट चुका है जो कि किसी को यह समस्या दृष्टिदोष के कारण भी हो सकती है

   जब किसी व्यक्ति के नाक मुंह अथवा जीभ कठोर होने लगे तो समझ लेना चाहिए कि उसकी मृत्यु करीब चुकी है 

   मृत्यु के नजदीक आने पर मनुष्य की आंखों की रोशनी खत्म होने लगती है उसे अपने आसपास बैठे लोग नजर आना बंद हो जाते हैं यह स्थिति इस बात को दर्शाती है उसका समय अब धरती लोक पर समाप्त होने वाला है 

   जिन प्राणियों ने जीते जी परोपकार अथवा अच्छे कर्म किए हैं उन्हें अंत समय में एक दिव्या प्रकाश  नजर आता है और ऐसा प्राणी किसी भी दशा में मृत्यु से भयभीत नहीं होता है और ना ही उसके जाने के बाद किसी को उसकी कमी का आभास होता है ऐसे लोग अनेक वर्षों तक अन्य लोगों को अपने जीवित रहने का आभास करआते ही रहते हैं

  तो दोस्तों अब आप जान ही गए होंगे कि जब किसी मनुष्य को इस प्रकार के संकेत दिखाई देने लगे तो उसे समझ लेना चाहिए कि अब उसके पास बहुत ही अल्प समय शेष रह गया है अतः उसे कुछ अति महत्वपूर्ण कार्य संपन्न कर लेना चाहिए और अपना ध्यान ज्यादा से ज्यादा परमात्मा में लगाना चाहिए ताकि सहज रूप से शरीर को त्याग कर अपने अगले सफर की ओर प्रस्थान किया जा सके 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *