हिंदु धर्म में मान्यता होने के कारण धार्मिक अनुष्ठान और हर प्रकार के छोटे से बड़े पूजन में तुलसी का प्रयोग किया जाता है तुलसी का पौधा हिंदु धर्म में पवित्र और शुद्ध माना जाता है। इसके साथ ही तुलसी का इस्तेमाल कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के लिए भी किया जाता है जिसके कारण ज्यादातर लोगों के घरों में तुलसी का पोधा देखने को मिल जाता है।

 

 कहते हैं अगर घर में तुलसी का पौधा हो और उसे आप पानी देते हैं तो इससे घर में सकारात्मक उर्जा बनी रहती है। यहां ध्यान देने वाली बात ये है कि तुलसी का पौधा आसानी से तो लग जाता है लेकिन इसके लिए कुछ खास नियम होते हैं जिसका आपको पालन करना चाहिए। इन नियमों का अगर पालन किया जाए तो तुलसी घर में सौभाग्य की जगह दुर्भाग्य ले आती है

 

  • तुलसी का पौधा लगाने के लिए उत्तर और उत्तरपूर्व दिशा में साफसुथरे स्थान को चुनें। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा (vibes) आती है।
  • तुलसी का पौधे की अच्छे से देखभाल की जानी चाहिए। अगर तुलसी को पौधा गलती से सुख जाए तो इससे परिवार के सदस्यों के लिए दुर्भाग्य आता है।
  • घर की दक्षिणपूर्व दिशा में तुलसी का पौधा कभी भी नहीं लगाना चाहिए। इस दिशा में तुलसी के पौधे को लगाने से बचना चाहिए।
  •  हमेशा इस बात का ख्याल रखें की तुलसी के पौधे को जमीन में नहीं लगाना चाहिए। हमेशा शुभ फलों की प्राप्ति के लिए तुलसी के पौधे को गमले में लगाना चाहिए।

 

  • जिस जगह पर तुलसी का पौधा रखा हो उसके आसपास की जगह साफ होनी चाहिए। पौधे के आसपास खाली जगह होनी चाहिए। इसके अलावा पोछा, झाडू आदि भी पौधे के पास नहीं होना चाहिए।
  •  वास्तु के मुताबिक तुसली को हमेशा विषम संख्या में लगाना चाहिए। जैसे एकतीन या फिर पांच। तुलसी के पौधे को लगाते समय इस बात का भी ख्याल रखें की इसके पास किसी भी प्रकार की खुरदरी या कांटेदार पौधे हो।
  • अगर आपने अपने घर में तुलसी का पौधा लगाया हुआ है तो इसे हमेशा मूल आधार से उंचा रखना चाहिए। इसे वास्तु के नियमों के अनुसार अच्छा माना जाता है।
  • तुलसी के पत्तों को तोड़ते समय कुछ बातों का ख्याल रखना चाहिए। कभी भी तुलसी को नाखूनों की सहायता से नहीं तोड़ना चाहिए। तुलसी के पत्तों को तोड़ते वक्त हल्के हाथों का इस्तेमाल किया जाना चाहिए।
  •  कभी भी बिना नहाए तुलसी के पत्तों के नहीं छूना चाहिए। इसके साथ ही सूर्यास्त के बाद भी तुलसी के पत्तो को तोड़ने से बचना चाहिए।
  • रविवार के दिन भी तुलसी के पत्तों को नहीं तोड़ना चाहिए। रविवार के दिन तुलसी के पौधे में पानी भी नहीं डालना चाहिए। माना जाता है कि इस दिन तुलसी के पत्ते तोड़ने पर पूजा का फल पूरी तरह से नहीं मिलता।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *