रामायण में भगवान राम को 14 साल के वनवास से लौटने के बाद फिर से अयोध्या का रास्ता दिया गया था भगवान राम के बाद कई बड़ेबड़े राजाओं ने उनके वंशज के रूप में अयोध्या में राज किया लेकिन क्या आपने कभी इस बारे में सोचा है कि भगवान राम के बाद उनके पुत्रों का क्या हुआ और क्या उनके वंशज आज भी धरती पर मौजूद है आज हम आपको इस सवाल का जवाब देंगे 

भगवान राम के वंशज आज भी मौजूद हैं और उनका वंशीत परिवार जयपुर राजघराने में रह रहा है आजादी के बाद हमारे देश में राजशाही भी खत्म हो गई थी इसके बाद भी कई राज परिवार ऐसे हैं जो आज भी उसी शानो शौकत से रह रहे हैं और लोग आज भी उन्हें अपना राजा मानते हैं जयपुर की महारानी पद्मिनी देवी ने खुद यह बात एक टीवी चैनल के इंटरव्यू में बताई थी पद्मिनी देवी ने कहा था कि उनके पति और जयपुर के पूर्व महाराजा भवानी सिंह श्री राम के पुत्र कुश के 309वे वंशज है

भवानी सिंह और पद्मिनी देवी की इकलौती बेटी का नाम दिया कुमारी है दिया के दो बेटे और एक बेटी है वर्तमान समय में दिया सवाई माधोपुर से बीजेपी विधायक है दिया के बेटे पद्मनाभ ने 12 साल और लक्ष्यराज सिंह ने 9 साल में जयपुर की रियासत संभाली थी दीया के पिता महाराज भवानी सिंह का कोई पुत्र नहीं था जिस वजह से साल 2002 में राजगद्दी उन्होंने अपनी बेटी को दि और उनके बेटे को गोद लिया

महाराजा भवानी सिंह के निधन के बाद साल 2011 में पद्मसिंह का राजतिलक हुआ और साल 2013 में लक्ष्यराज गद्दी पर बैठे इस राज्य परिवार की जिंदगी शान शौकत से भरी हुई है यह 20 हजार करोड़ की संपत्ति के मालिक है यहां के राजा पदमनाभ सिंह जो कि अपने आलीशान लाइफस्टाइल के लिए जाने जाते हैं राजा पद्मनाभसिंह मॉडल पोलो खिलाड़ी और ट्रावेलर भी है उनका का जयपुर में निजी आलीशान अपार्टमेंट है इस अपार्टमेंट में एक बेड रूम ड्रेसिंग रूम प्राइवेट पूल भी है

साल 2011 में इस राजघराने की कुल संपत्ति 44 अरब से भी ज्यादा थी जो अब बढ़कर 48 अरब से भी ज्यादा हो गई है इस राजपरिवार की जिंदगी शानो शौकत से भरी हुई है रानी पद्मिनी देवी कइ आयोजनों पर मुख्य अतिथि के रुप में पहुंचती है और उनके परिवार को भी राजस्थान में होने वाली शाही  पार्टियों में देखा जाता है