सभी जानते हैं कि  भगवान श्रीराम के वनवास जाने पर वियोग में किस तरह से उनके पिता और अयोध्या के राजा दशरथ ने अपने प्राण त्याग दिए थे। यूपी के बिजनौर से ऐसी एक हृदय विदारक घटना सामने आई है जिसे जानकर हर कोई चकित हो गया। बता दें कि रामलीला का मंचन चल रहा था। जहां दशरथ का किरदार निभा रहे राजेंद्र सिंह राम के वन जाने से दुखी होते हैं।उत्तर प्रदेश के बिजनौर में रामलीला के दौरान एक कलाकार की आश्चर्यजनक रूप से मौत हो गई है. । रामलीला देखने वाले दर्शकों को लगा कि वे अभिनय कर रहे हैं। उन्हें देखकर सभी तालियां बजा रहे थे। बाद में उन्हें पता चला कि कलाकार की वास्तव में मृत्यु हो गई थी और हर कोई दंग रह गया था।

घटना हसनपुर गांव की है। यहां 7 तारीख से दशहरा तक रामलीला का आयोजन किया गया। राजा दशरथ की भूमिका राजेंद्र सिंह निभा रहे थे। मंच पर राम, सीता और लक्ष्मण अपने पिता के कहने पर वनवास में जा रहे थे। दशरथ बने राजेंद्र सुमंत को जंगल दिखा के वापस लौटने के लिए भेजते हैं।

सुमंत को राम के बिना लौटता देख राजा दशरथ भावुक हो गए। भगवान श्रीराम के शोक में वे राम-राम का जाप करने लगे। दो बार राम-राम कहकर दशरथ बने राजेंद्र सिंह अचानक मंच पर गिर पड़े। सभी के मन में था कि वह अभिनय कर रहे हैं और उन्होंने मंच पर ही अंतिम सांस ली।

पर्दा गिरा तो उसने राजेंद्र सिंह को उठाने की कोशिश की, लेकिन उसकी मौत हो चुकी थी। यह पता चलने पर रामलीला को बीच में ही रोक दिया गया। हार्ट अटैक से उनकी मृत्यु हो चुकी थी 

रामलीला समिति से जुड़े गजराजसिंह ने बातचीत में बताया की राजेंद्र सिंह ने कई वर्षों तक रामलीला में दशरथ की भूमिका की थी। उनके परिवार में पत्नी, तीन बेटियां और दो बेटे हैं। बीएसएफ में ड्यूटी पर तैनात सबसे छोटा बेटा घर पहुंचा और किया गया अंतिम संस्कार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *