महान विद्वान और राजनयिक आचार्य चाणक्य ने अपने विचारों को चाणक्य नीति पुस्तक में शामिल किया है। वर्तमान समय में भी इस नीति पुस्तक की सत्यता कम नहीं हुई है। यह पुस्तक उन्होंने अपने जीवन के अनुभवों और ज्ञान से लिखी है। इस पुस्तक में आचार्य ने व्यावहारिक जीवन और गृहस्थ जीवन से जुड़ी कई कहानियां सुनाई हैं।

चाणक्य नीति में उल्लेख है कि लोगों को कुछ बातें अपने पास रखनी चाहिए।चाणक्य नीति के अनुसार कुछ ऐसी बातें हैं जो किसी को नहीं बतानी चाहिए। इसके पीछे कारण यह हो सकता है कि उन्हें जानने से किसी को बुरा लगता है, किसी को दुख होता है या वह आपका मजाक भी उड़ा सकते हैं। ऐसे में आपके लिए बेहतर होगा कि आप यह बात गुप्त ही रखें। आइए जानते हैं ऐसा क्या है जो कभी किसी के साथ शेयर नहीं करना चाहिए 

.आचार्य चाणक्य के अनुसार जिन लोगों को आर्थिक नुकसान हुआ है, उन्हें इसे बाहरी लोगों को बताने से बचना चाहिए। उनके अनुसार, जो लोग मुसीबत में होने पर दूसरों के साथ यह बात बांटते हैं, वे मदद करने के बजाय निराश हो सकते हैं। इतना ही नहीं आपकी परेशानियों के कारण लोग आपसे दूरी बनाने लगेंगे।

२.चाणक्य के अनुसार लोगों को अपने जीवनसाथी से जुड़े निजी मामलों को भी गुप्त रखना चाहिए। उनका कहना है कि अगर पति-पत्नी अपने पार्टनर के साथ अपने झगड़े या अपने व्यवहार को दूसरों के साथ साझा करते हैं, तो लोग न केवल उनका मजाक उड़ाएंगे और समाज में आपको देखने का नजरिया बदल जायेगा

३.चाणक्य अपनी बुक में लिखते हैं कि लोग अक्सर लोग आपके सामने मीठी-मीठी बातें करते हैं, इसलिए हम उनके भ्रम में पड़ जाते हैं। लेकिन ये वही लोग आपकी जो आपकी समस्या जानकर मौज-मस्ती करते हैं या पीठ पीछे बुराई करते हैं। इसलिए लोगों को अपनी परेशानी दूसरों से शेयर करने से बचना चाहिए। चाणक्य कहते हैं कि उन्हें आपकी परेशानियों से कोई लेना-देना नहीं है।

.आचार्य  के मुताबिक अगर किसी ने आपका अपमान किया है तो बेहतर होगा कि इस घटना को अपने पास ही रखें. दूसरों को बताने से आपका आत्मसम्मान भी कम होगा और लोग इस बात को बढ़ा चढ़ा के दुसरो को बताएँगे 

यह महत्वपूर्ण बातें हमेशा याद रखे और हो सके तो इसका पालन कीजिये 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *