उर्फी सोशल मीडिया सेंसेशन हैं, लेकिन वह खुद को स्टार नहीं मानती हैं और हाल ही में उर्फी ने बताया कि जब वह बिग बॉस में गई थीं तो उन्होंने रेन्ट पर कपड़े लिए थे। एक हफ्ते में वह वहां कुछ खास नहीं कमा पाई। ऐसे में उन पर काफी कर्ज हो गया था, जिसे समय के साथ उन्होंने मेहनत की और उतार दिया। उर्फी जावेद आज भी खुद को स्टार नहीं मानते हैं और हम ऐसे नहीं हैं, उन्होंने खुद कहा है।

सिद्धार्थ कनन को उर्फी जावेद ने बताया कि मैं कहीं भी जाती हूं तो ऐसी ही रहती हूं, जैसी हूं और मैं खुद को स्टार नहीं मानती। मैं जब खाना खाती हूं तो लोग मुझे देख रहे होते हैं, मुझे बहुत खराब महसूस होता है और मैं जिस जगह गई थी, वहां मुझे इंटरव्यू के लिए बुलाया गया था। ऑर्गेनाइजर्स ने भी पैपराजी को वहां बुलाया, तो जब मैं वहां पोज कर रही थी तो वहां मोजूद सिक्योरिटी गार्ड पैपराजी के साथ बहुत बदतमीजी से बात कर रहा था और मेरे से भी की।

बॉडीगार्ड्स को बुलाया और हम सभी को वह धक्का देने लगे और यह सब कैमरे में नहीं था। दो मिनट बाद सिक्योरिटी गार्ड ने आकर माफी मांगी और कहा कि ऊपर से परमिशन नहीं आई थी, हमें कुछ कन्फ्यूजन हुआ था और मुझे इस बात से दिक्कत रही कि आपने बदतमीजी की, और अब माफी मांग रहे हो, क्योंकि परमिशन आने में देरी हो गई थी और मुझे उस समय गुस्सा आया था।

सिद्धार्थ कनन ने उर्फी जावेद से जब पूछा कि उनपर लोग आरोप लगाते हैं कि वह पैपराजी को पैसे देकर बुलाती हैं और इसपर गुस्से में उर्फी जावेद ने कहा कि मैं कायली जेन्नर हूं क्या? कहां से आया पैसा? मैं अंबानी की बेटी हूं क्या? कभी लोग कहते हैं कि मेरे पास पैसे नहीं हैं कपड़े पहनने के लिए और वहीं, दूसरी ओर लोग कह रहे हैं कि मैं पैसे देती हूं? आपको क्या लगता है कि कहां से मेरे पास पैसा आ रहा है? मुझे देखो, क्या आप लोगों को सच में लगता है कि मैं किसी को पैसे देती होंगी मुझे कवर करने के लिए?

उर्फी ने सेलेब्स का राज खोलते हुए कहा कि हर एक्टर एक पीआर होता है, जब आप सेलेब्स को मुंह छिपाते देखते हो तो सब उनका सिर्फ और सिर्फ ड्रामा होता है और साल से मैं आर्थिक तंगी में थी। बिग बॉस गई थी तो उधार लेकर गई थी और मैंने कपडे पहने थे वे मैंने उधार लिए थे और मैं बिग बॉस से बाहर तो मेरे काफी कर्जा था। मैं केवल एक हफ्ते थी, उसमें भी मैंने कुछ ज्यादा पैसे कमाए नहीं।

आठ साल मैंने छोटे-मोटे सीन्स करके ही सर्वाइव किया और जो काम मिलता था, करता थी, मैंने करीब 15 डेली सोप्स किए हैं, लेकिन कुछ भी मैंने ऐसा नहीं किया, जिससे मुझे सक्सेस मिली हो और शुरुआत 2500 रुपये (एक दिन) से शुरुआत की थी और आखिरी शो मेरा वेब सीरीज थी, जिसके लिए मैंने 18 हजार रुपये चार्ज किए थे, लेकिन क्या होता है कि मैंने अगर 6 महीने काम किया तो 6 महीने मैं घर बैठी हूं और घर बैठी हूं तो खाऊंगी कहां से और जो कमाया, सेव किया, आगे जिन दिनों मेरे पास काम नहीं था, उसमें लग गए और कुछ ऐसी ही टीवी एक्टर की लाइफ होती भी है।