अनुपमा में अभी किंजल के बच्चे पर सबका ध्यान हे इस बीच अनुज अकेला फील कर रहा है। अनुपमा को शाह परिवार और वनराज के साथ ज्यादा घुला-मिला देख अनुज को अच्छा नहीं लगता। अनुपमा अनुज की मदद करने की कोशिश करती है औऱ वह चिढ़कर अनुपमा पर चिल्ला पड़ता है। इस बीच बा अनुपमा पर सारी रस्मों का जिम्मा रख देती हैं। इस बीच पारितोष को अपने किए पर पछतावा होता है और वह सोचता है कि किंजल को उसकी सच्चाई का पता न चले।

अनुपमा ने बेबी को दी डॉल
अनुपमा सीरियल में अनुपमा किंजल की बच्ची के आने की खुशी में हर रस्म को बेस्ट तरीके से निभाने की कोशिश करती है। शो में दिखाया जाता है कि अनुपमा बेबी के पालने में अपने और अनुज की तरफ से डॉल बांधती है। वह सबसे बोलती है कि अपनी तरफ से कुछ न कुछ जरूर बांधें।

तोषू को हुआ पछतावा
बा छोटी अनु को बेबी के पास जाने से बार-बार रोकती हैं जिस पर वह रोने लगती है। राखी अनुपमा से बोलती है कि वह हमेशा किंजल का साथ देगी और भविष्य में जरूरत पड़ी तो क्या वह भी ऐसा करेगी? इस पर अनुपमा थोड़ी हैरान होती है लेकिन किंजल का साथ देने की बात करती है। इस बीच किंजल के साथ खुशियां मनाते हुए तोषू को अपनी हरकत का पछतावा होता है।

राखी के व्यवहार से परेशान अनुपमा
अनुपमा अपने परिवार को टाइम देना चाहती है लेकिन बा उस पर जबरदस्ती जिम्मेदारियां डालती हैं। दूसरी ओर अनुपमा अनुज को बताती है कि बच्चे के नामकरण संस्कार के लिए शाह परिवार ने अनुज सहित बरखा, अंकुश और अधिक को भी बुलाया है। अनुपमा को राखी का व्यवहार तोषू के लिए अजीब लगता है। वह अनुज को बताती है कि मोरपंख वाली रस्म के दौरान राखी का व्यवहार उसे समझ नहीं आया।

अनुज ने अनुपमा पर निकाला गुस्सा
अनुज अनुपमा से कहता है कि वह ऑफिस जाकर काम करना चाहता है। इस पर अनुपमा कहती है कि नामकरण के बाद दोनों चलेंगे। अनुपमा अनुज को गुदगुदी करती है और वह स्लिप हो जाता है। अनुपमा उसकी मदद करने लगती है। अनुज अनुपमा को वनराज के साथ रस्में करते याद करता है और एकदम से चिल्ला पड़ता है कि उसे किसी की मदद की जरूरत नहीं। अनुपमा डर कर उसे सॉरी बोलती है।