टीवी सीरियल ‘अनुपमा’ घर घर में चहिता शो बन चूका है इसी लिए ही टीआरपी लिस्ट में सबसे टॉप पर है ही। ‘अनुपमा’ में बीते दिन दिखाया गया कि पारितोष शराब के नशे में अनुपमा के घर में उधम मचाता है। ऐसे में अनुज का खून खौल जाता है और वह वनराज को फोन करके उसे ले जाने के लिए कहता है। दूसरी ओर अनुज और अनुपमा में भी नाराजगी बढ़ जाती है, लेकिन बाद में अनुज उसे समझाता है कि वह अनुपमा की वजह से नहीं बल्कि इन बेवजह से कलेशों से परेशान है। लेकिन ‘अनुपमा’ में आगे भी ऐसे कई मोड़ आने वाले हैं जो दर्शकों को भी हिलाकर कर रख देंगे।

वनराज एक तरफ किंजल की फिक्र कर रहा होता है तो वहीं दूसरी ओर बा उसे किंजल को अनुपमा के घर से लाने के लिए कहती हैं। वह वनराज से कहती हैं कि परिवार में डोर कसी जाती है न कि तोड़ी जाती है। कल अगर तोषू ने कुछ कर लिया तो क्या किंजल सही से रह पाएगी। तू जैसे-तैसे किंजल और परी को वापस लेकर आ, बाकी ठाकुर जी की इच्छा।

बा की बातों में आकर वनराज और बा, अनुपमा के घर पहुंच जाते हैं। वह किंजल से कहता है कि मैं तोषू को माफ नहीं करूंगा, लेकिन तुम अपने घर चलो। वनराज, किंजल को समझाता है कि यहां परी को संभालने के लिए केवल अनुपमा है, लेकिन शाह हाउस में उसे सबकी मदद मिलेगी। इसके साथ ही वनराज अपनी बहू से कहता है कि अनुपमा पर पहले ही बहुत ज्यादा बोझ है, ऐसे में उसकी परेशानी बढ़ाना ठीक नहीं है। बा भी इस बीच बोलने से नहीं चूकतीं और कहती हैं कि तू तोषू को एक मौका दे और अगर वो न सुधरे तो कोई फैसला लेना।

वनराज की बातें सुनकर अनुपमा को पुराने दिन याद आने लगते हैं। ऐसे में वह अनुज की बातों को नजर अंदाज कर देती है और किंजल के मामले में टूट पड़ती है। वह वनराज और बा से कहती है कि आप लोग किंजल पर दबाव मत डालिए। अनुपमा, वनराज और बा को लेक्चर देने लगती है, जिसपर वनराज का खून खौल जाता है और वह बीच में बोल पड़ता है। वनराज, अनुपमा को जवाब देता है कि जब मैं तुम्हारे बीच नहीं बोलता तो तुम मेरे और किंजल के बीच में क्यों बोल रही हो। हमें तुमसे परमिशन लेने की जरूरत नहीं है।

रुपाली गांगुली और गौरव खन्ना के एंटरटेनमेंट से भरपूर ‘अनुपमा’ में आगे दिखाया जाएगा कि पारितोष अपनी मां से बदला लेने की ठान लेगा। वह बदले की आग में छोटी अनु को अनुज और अनुपमा से दूर कर देगा।