अनुपमा सीरियल में लगातार ड्रामा देखने को मिल रहा है। तोषु अनुपमा से गुस्सा है और गुस्से में उसने ऐसी हरकत कर दी है की सब चौंक गये है। अनुपमा और अनुज से छोटी अनुज को वापस लेने के लिए अफसर पहुंचेंगे जहां परिवारवाले उनका सपोर्ट करेंगे। इतना ही नहीं अनु भी बोलती है कि वह अनुज और अनुपमा से अलग नहीं होना चाहती। अनुज और वनराज समझ जाएंगे इन सबके पीछे पारितोष का हाथ है। दोनों मिलकर तोषू को सबक सिखाएंगे।

एपिसोड में दिखाया जाता है कि नवरात्र सेलिब्रेशन के बीच अफसर पहुंचते हैं। वे बोलते हैं कि अनुपमा और अनुज बच्ची की देखभाल ठीक से नहीं कर पा रहे। इस पर बा, वनराज और समर बोलते हैं कि अनुज और अनुपमा अनु की देखभाल अच्छे से कर रहे हैं और उन्हें अलग न किया जाए। अफसर बताते हैं कि उन्हें शिकायत घर से ही मिली है।

अनुपमा उन्हें बोलती है कि अनु को न ले जाएं वहीं छोटी अनु भी अनुपमा और अनुज से अलग होने से मना कर देती है। इस मामले में पूरा परिवार दोनों के साथ हो जाता है। यह देखकर अफसर उनकी पेरेंटिंग की तारीफ करते हैं और अनु को लिए बिना चले जाते हैं। अनुपमा शक जताती है कि इस हरकत के पीछे पारितोष का हाथ है वहीं बा उसका पक्ष लेने लगती हैं। अनुज तोषू से पूछता है कि क्या ये हरकत उसकी है इस पर वह झूठ बोल देता है।

अनुज गुस्से में पारितोष को थप्पड़ लगाता है लेकिन तोषू इनकार करता रहता है कि उसने ऐसा नहीं किया। वनराज तोषू की कॉलर पकड़कर पूछता है कि क्या इस हरकते के पीछे उसका हाथ है? इस पर पारितोष कुबूल लेता है कि उसने ऐसा किया क्योंकि वह चाहता था कि अनुपमा बेटी से दूर होने का दर्द महसूस करे। वनराज तोषू की जमकर फटकार लगाता है लेकिन पारितोष अपनी गलती नहीं मानता। वनराज अनुपमा और अनुज से माफी मांगता है।